दुनिया के किन देशों में 5G है? | Which Countries of the World Have 5G | Hindi?

इतने सारे विवादों और झूठे प्रचार के बावजूद, 5G पूरी दुनिया में तेजी से फैल रहा है| ऐसा माना जाता है कि 5G एक बहुत ही जटिल तकनीक है और इस तकनीक में इस्तेमाल होने वाले उपकरणों की लागत बहुत अधिक है| इसलिए अनेक विकसित देशों ने पहले ही अपने नागरिकों को यह उच्च गति की5G इंटरनेट स्पीड प्रदान करना शुरू कर दिया है, लेकिन विकासशील देशों ने अभी तक इस तकनीक का अनुभव नहीं किया है।

ऐसे में यह जानना दिलचस्प है कि किन देशों के पास 5G नेटवर्क है और कौन से देश अभी भी इसका इंतजार कर रहे हैं। Viavi solutions जो कि कैलिफोर्निया स्थित नेटवर्क टेस्टिंग कंपनी है, फरवरी 2021 में “The State of 5G Deployments” शीर्षक से एक रिपोर्ट प्रकाशित की। इसमें उल्लेख किया गया है कि कुल 65 देशों में कम से कम 678 शहरों में 5G उपलब्ध था। हालाँकि ये बता दीं की अगले कुछ ही महिनो में ये सांख्य काफ़ी तेज़ से बढ़ सकते हैं| जानकारी सार्वजनिक मंचों जैसे समाचार पत्रिकाओं, प्रेस घोषणाओं, कंपनी की वेबसाइटों आदि पर उपलब्ध सभी स्रोतों से एकत्रित आंकड़ों पर आधारित थी।

तो ये रहे सभी देश जहान 5G सेवा शुरू हो चुकी है:

यूरोप में

ऑस्ट्रिया

एस्तोनिया

बुल्गारिया

ऑस्ट्रिया

बेल्जियम

फिनलैंड

साइप्रस

फिनलैंड

क्रोएशिया

जर्मनी

फ्रांस

हंगरी

आयरलैंड

इटली

लातविया

लिथुआनिया

मोनाको

पोलैंड

यूनान

हंगरी

डेनमार्क

एस्तोनिया

रोमानिया

सैन मारिनो

स्पेन

स्वीडन

स्विट्ज़रलैंड

यू के

नॉर्वे

आइसलैंड

उत्तर और दक्षिण अमेरिका में

कनाडा

अमेरिका

सूरीनाम

त्रिनिदाद

उरुग्वे

कोलम्बिया

मध्य पूर्व और अफ्रीका में

बहरीन

कुवैट

लिसोटो

ओमान

इजराइल

कतर

मोरक्को

सऊदी अरब

दक्षिण अफ्रीका

संयुक्त अरब अमीरात (यूएई)

नाइजीरिया

एशिया और ओशिनिया

ऑस्ट्रेलिया

चीन

हांगकांग

जापान

थाईलैंड

मालदीव

मेडागास्कर

न्यूज़ीलैंड

दक्षिण कोरिया

वो देश जहान 5G की टेस्टिंग चल रही है और जल्दी ही सेवा शुरू होने वाला है:

भारत

प्यूर्टो रिको

चिली

अर्जेंटीना

ब्राजील

वियतनाम

वो सारे देश जहान 5G प्रतिबंधित है:

हालाँकि 5G के स्वास्थ्य जोखिमों के बारे में अफवाहें बहुत अधिक हैं, अधिकांश देश इस तथ्य की सराहना करते हैं कि वे वास्तव में मोबाइल तकनीक में छलांग से चूकने का जोखिम नहीं उठा सकते हैं । इसीलिए, इसपे एकदम से प्रतिबंध लगा पाना संभव नहीं है । लेकिन कई देशों ने इस तकनीक से जुड़े खतरों को कम करने के लिए चीनी 5G मोबाइल उपकरण निर्माता कंपनी Huawei Technologies पर प्रतिबंध लगा दिया है । चीन की Huawei Technologies दूरसंचार उपकरण, नेटवर्किंग गियर और स्मार्टफोन बनाने वाली दुनिया के सबसे बड़े प्रदाताओं में से एक है। कई देशों का आरोप है कि कंपनी के उत्पादों में ऐसे उपकरण हो सकते हैं जिनका उपयोग चीन की सरकार जासूसी के लिए कर सकती है। इसके अलावा, कुछ देशों का आरोप है कि Huawei विदेशी कंपनियों से Technologies की चोरी करता है। परिणामस्वरूप, कई देश, क्षेत्र, व्यवसाय और संगठन Huawei के साथ अपने व्यावसायिक संबंधों पर प्रतिबंध लगा रहे हैं या उन पर पुनर्विचार कर रहे हैं।

 वे देश हैं:

भारत

ब्राजील

ऑस्ट्रेलिया

चेक रिपब्लिक

सभी यूरोपीय देश

यू के,  और

अमेरिका

निष्कर्ष:

वो सारे देश जहान 5G सेवा शुरू हो चुकी है, उनकी सांख्य बहुत तेजी से बढ़ने वाली है। 5G एक ऐसी तकनीक है जो हमारे जीने के तरीके को बहुत तेजी से बदल देगी। भारत में भी लोग इस बेहद तेज 5G तकनीक का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। यह देखना दिलचस्प होगा कि आखिरकार हमें अपने मोबाइल फोन में 5G स्पीड का अनुभव कब मिलता है।